बच्चे के जन्म के इतने हफ्ते बाद ही वेट लॉस शुरू करें

जब भी कोई महिला प्रेग्नेंसी के दौर से गुजरती है तो उसे एक बात की बड़ी चिंता होता है और वो होती है की उसका वजन कैसे बढ़े. ये सब वो इसलिए सोचती है क्यों की वो चाहती है की उसके बच्चे को पौष्टिक आहार मिलता रहे है. जब उस बच्चे का जन्म हो तब वो हष्ट – पुष्ट और स्वस्थ हो. पर एक प्रॉब्लम और सताती है इन गर्भवती महिलाओ को औरवो यह होती है की जब डिलेवरी हो जाएगी तब फिर से वही वजन काम कैसे किया जाये। इस प्रकार ये एक प्रकार से आगे कुवा पीछे खाई वाली बात हो जाती है.

Weight loss – after how many weeks/time from delivery should you start postpartum weight loss |

जानें इस बारे में क्या है डॉक्टर की राय -बच्चे के जन्म के इतने हफ्ते बाद ही वेट लॉस शुरू करें

अमेरिका के CDC यानि सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन का सुझाव यह है कि एक नार्मल वेट वाली लेडी जिसके गर्भ में केवल एक बच्चा ही हो उन्हें 10 से 15 KG तक वजन बढ़ाना चाहिए. अगर प्रेग्नेंट महिला अंडरवेट यानि जितना उसका वजन होना चाइये उतना नहीं हो तोह (Underweight) 13 से 18 KG तक वेट बढ़ाने की जरूरत पड़ती है. इसके साथ ही जो ज्यादा वजन वाली महिलाओं होती है उनको केवल 7 से 10 KG तक वेट गेन करने की जरूरत होती है.

डॉक्टर की राय 6-8 वीक बाद ही वजन घटाने के बारे में सोचें

जिस तरह हर लेडीज के बॉडी के हिसाब से उनके वजन बढ़ाने की जरूरतें भी अलग-अलग होती हैं, ठीक उसी तरह डिलिवरी के बाद किस लेडीज का वेट कब और किस रेशियो में घटेगा यह भी उस लेडी की बॉडी, बनावट व् मेटाबॉलिज्म पर डिपेंड करता है. भारत की नोएडा की ऑब्स्टेट्रिशन, गाइनैकॉलजिस्ट औरइन्फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट डॉ. अंजू सूर्यपानी से जी वालो ने इस बारे में बात की और उनसे पूछा गया की आखिर डिलिवरी के कितने दिन बाद एक लेडी को वजन घटाने की प्रोसेसिंग शुरू करनी चाहिए. डॉ. अंजू की बात मानें तो डिलिवरी के 6- 8 वीक के बाद ही आपको वजन घटाने के बारे में सोचना चाहिए। वेट लोस्स के लिए डाइटिंग व् स्ट्रिक्ट वर्कआउट तो भूल से भी नहीं करना चाइये. सबसे अच्छा तो यही है की आप कैलोरीज कंट्रोल करें, बढ़िया , हेल्दी डाइट लें साथ ही साथ एक्सरसाइज करें. हालांकि इन सब की शुरुआत ही उन्हें धीरे-धीरे ही करनी चाहिए.

किन कारणों की वजहों से प्रेग्नेंसी वेट घटाना है जरूरी

महिला की डिलिवरी के बाद का वेट जिसे पोस्टपार्टम वेट भी कहा जाता हैं. यही पोस्टपार्टम वेट ही महिलाओं में वेट बढ़ाने के लिए रेस्पोंसिबल माना जाता है. इन्ही मोटापे की वजह से महिलाओ में हाई बीपी, हृदय रोग जैसी हानिकारक बीमारियों का खतरा हर समय बना होता है.
जिसका वजन ज्यादा हो तो बॉडी की बोनस यानि हड्डियों व् जोड़ों पर दबाव बनता है और यही आर्थराइटिस बीमारी का कारण बन सकता है.

कई सारे अध्यनों में यह बात सामने आयी है कि महिलाओ की प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़े वेट की वजह से कई बार लेडीज को पोस्टपार्टम डिप्रेशन की भी प्रॉब्लम फेस कर पड़ जाती है.

प्रेग्नेंसी से बढे वजन को इन तरीकों से करें काम

1. ब्रेस्टफीडिंग- आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग (बच्चे को माँ का दूध पिलाये) करवाकर भी आप वजन कम कर सकती हैं. साल 2014 के अद्ध्यन में यह बात सामने आयी कि जिन लेडीज ने 3 महीने तक लगातार बच्चे को केवल अपना दूध पिलाया उनका वेट 1.5 किलोग्राम कम हो गया उन लेडीज की काम्पेयरजन में जिन महिलाओ ने ब्रेस्टफीडिंग नहीं करवायी. इसका कारण ये है कि बच्चे को (माँ का दूध) दूध पिलाने से रोजाना 500 कैलोरीज बर्न हो होती हैं.

2. फाइबर व् प्रोटीन से भरपूर चीजें खाएं- फाइबर के साथ साथ प्रोटीन से भरपूर चीजें खाने से आपका पेट लंबे समय तक भरा महसूस होता है. जिससे जल्दी भूख नहीं लगती. इससे उन महिलाओ के शरीर की कैलोरी इनटेक भी कम होता है और वजन कम में भी हेल्प मिलती है. लिहाजा अपनी डाइट में फल व् वेजिटेबल्स को जरूर शामिल करें.

3. सिंपल तरह की एक्सरसाइज करें- ये तो वैसे भी (एक्सरसाइज) करना जरूरी है लेकिन आपको सबसे पहले सिंपल एक्सरसाइज से शुरुआत करनी चाहिए. जिस तरह प्रेग्नेंसी के दौरान एक महिला खुद को हेल्दी व् ऐक्टिव रखने के लिए एक्सरसाइज करती हैं, उसी तरह जब डिलिवरी होजाती है उसके बाद भी यह जरूर करें. इससे महिला का वजन घटाने में हेल्प होगी।

(नोट: किसी भी उपाय या सलाह को करने से पहले हमेशा ही अपने नजदीकी या किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें. हम इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

Leave a Comment